सोलन के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल  – Best Solan Tourist Places

Himachal Tourist Guide

यात्रा सलाहकार ट्रैवल कंपनी आपको हिमाचल टूरिस्ट प्लेस, बेस्ट टूर पैकेज और बेस्ट होटल्स के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करती है।

BEST TOURISM PLACEHINDISOLAN TOURISM

सोलन के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल – Best Solan Tourist Places

एक  Khoobsurat Hill Station  जो Chandigarh Shimla National Highway में पड़ता है l जो मशरूम शहर के नाम से प्रसिद्ध है l जी हाँ आज हम बात कर रहे Solan City के बारे में और  Best Solan Tourist Places के बारे में आपको बताने वाले हैं l

सोलन के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल – Best Solan Tourist Places To Visit

Table of Contents

 Solan Shahar  मशरूम की खेती के अलावा टमाटर की खेती के लिए भी काफी प्रसिद्ध है l इसे सोने का लाल शहर भी कहा जाता है l  सोलन शहर में कई मंदिर और मठ हैं l सोलन Shoolini Temple के मंदिर और Jatoli Shiv Mandir  के लिए काफी प्रसिद्ध है l  Solan की पहाड़ी में लगभग 300 साल पुराना किला है परन्तु अब वह खंडर बन चूका है l

Chandigarh City  और आस पास पंजाब क्षेत्र के लोग अक्सर Solan  Tourist Places घूमने आते हैं l शहरों की भीड़ भाड़ और प्रदुषण से मुक्त यह शहर बेहद खूबसूरत है l  अगर आप Solan घूमने जाने की प्लानिंग कर रहे हो तो आप इन जगह पर जरूर जाएँ जो इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं l

मोहन शक्ति हेरिटेज नेशनल पार्क – Mohan Shakti Heritage National Park

सोलन से 13 किलोमीटर की दुरी में एक खूबसूरत मंदिर का और Mohan Shakti Heritage National Park का निर्माण हुआ है l यह मंदिर  Ashwani Khad के स्थित बसा हुआ है l यह Ashwani Khad  पुरे सोलन शहर     की जल आपूर्ति करती है l इस मंदिर का उदघाटन 2002 में पूर्व प्रधान मंत्री Atal Bihari Vajpayee  ने किया था l इस मंदिर की स्थापना Brigadier Kapil Mohan  जी ने वैदिक संस्कृति को पुनर्जीवित करने के लिए की l

Mohan Shakti Heritage National Park

इस मंदिर का निर्माण होने में 30 साल लगे l Mohan Heritage National Park  40 एकड़ में फैला हुआ है l इस मंदिर के निर्माण में लगभग 500 करोड़ रुपया खर्च हो चूका है l इस मंदिर में आपको सभी देवी देवताओं की अद्भुत मूर्तियां देखने को मिल जाएँगी l इस मंदिर के बहार एक खुला पार्क है l जहां पर आप शांत वातावरण का लुत्फ़ उठा सकते हैं l ज्यादातर हिमाचल के मंदिर पहाड़ों में स्थित होते हैं परन्तु यह हिमाचल का शायद पहला मंदिर होगा जहां आपको पहाड़ों से नीचे उतरना पड़ेगा  l

ब्रिगेडियर कपिल मोहन इतिहास – Brigadier Kapil Mohan History

Mohan Meakin Limited के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर कपिल मोहन जी थे l अगर आप शराब पीने के शौक़ीन हैं तो आपने Mohan Meakin की मशहूर शराब Old Monk Rum  का नाम जरूर सुना होगा l  कपिल मोहन    Indian Armed Force में कार्यरत रह चुके हैं और उन्हें Padma Shri Award भी मिल चूका है l 6 जनबरी 2018 को Brigadier Mohan Kapil मोहन कपिल जी का निधन हो चूका है l उनका मानना था की आने वाली पीड़ी को हमारी वैदिक संस्कृति के बारे में पता हो l

कैसे पहुंचे मोहन शक्ति हेरिटेज नेशनल पार्क – How To Reach Mohan Shakti Heritage National Park

सुबह 9 बजे से लेकर शाम 7 बजे तक Mohan Shakti Heritage National Park के लिए Solan से बसें चलती हैं l आप अपने Car या फिर Taxi के माध्यम से भी इस पार्क पर पहुँच सकते हैं l इस मंदिर में एंट्री फ्री है l इस मंदिर में पेड पार्किंग की सुविधा भी उपलब्ध है l

शूलिनी माता का मंदिर – Shoolini Devi Temple Solan

Solan हिमाचल प्रदेश का प्रमुख शहर है सोलन का नाम माँ Shoolini Devi के नाम पर पड़ा है l कहा जाता है की माँ शूलिनी दुर्गा माँ की सबसे छोटी बहन है l इतिहासकारों का कहना है की यह मंदिर कभी Shoolini Mata Ka  का निवास स्थान था l त्योहारों में यह मंदिर काफी सूंदर लगता है l रात को इस मंदिर लाइटिंग से काफी सूंदर लगता है l यह मंदिर सोलन शहर का मुख्य आकर्षण है l

Shoolini temple

शूलिनी मेला – Shoolini Fair

प्रतेक बर्ष जून महीने के अन्त में   माँ शूलिनी देवी के नाम पर मेला आयोजित होता है l इस मेले में दूर दर्ज क्षेत्रों के लोग घूमने आते हैं l पौराणिक कथा के अनुसार मेले में माँ  शूलिनी Solan सोलन के गंज बाजार में स्थित माँ दुर्गा मंदिर यानि अपनी बड़ी बहन से मिलने जाती है l इस उत्सव में दूर-दराज के लोग विभिन्न-विभिन्न परिधानों को पहन कर इस उत्सव में भाग लेते हैं l माँ Shoolini Devi  की शोभा यात्रा पूरे सोलन से घूमती हुई तीन दिन बाद बापिस अपने स्थान पर आ जाती है l अंतिम दिन में यह उत्सव काफी धूम धाम से मनाया जाता है l इस उत्सव में नृत्य, गायन, कुश्ती और अन्य खेलों की प्रतियोगिता आयोजित की जाती है  l आस-पड़ोस के क्षेत्रों से व्यापारी दुकाने लगते हैं l जो इस उत्सव की शोभा बढ़ाते हैं l

कुठार किला सोलन – Kuthar Fort Solan

कहा जाता है की Kuthar kila   लगभग 800 बर्ष पुराना है l यह किला Solan और पडोसी क्षेत्रों में सबसे पुराना ऐतिहासिक स्मारक है l Kila यानि Mahal इस महल का पिछले हिस्सा पूरी तरह से टूट चूका था उसे दोबारा बनाया गया है अब यह महल एक Heritage Hotel में बदल चूका है l किले के भीतरी दीवारों की मर्रमत करवाई गई है और दोबारा उन पर खूबसूरत पेंटिंग करवाई गई हैं l

Kuthar Fort Solan

यह किला बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है l इस किले के अंदर एक खूबसूरत झरना है जिसका दृश्य अदभूत है l जो भी इस झरने को देखता है वह इसकी प्रशंसा करते नहीं थकता l

कैसे पहुंचें कुथार का किला – How To Reach Kuthar Fort 

Chandigarh से  Baddi Road पर चलते हुए Barotiwala होते हुए आप पहुँच सकते हैं l इसके अलावा आप Pinjore होते Dharampur और Dharampur से आप Kuthar Palace जा सकते हैं l अगर आप Shimla की तरफ से आ रहे हैं तो आप Solan से Sabathu होते हुए जा सकते हैं l Sabathu से Kuthar Heritage Palace 11 Kilometer है l

Shimla To Kuthar Fort Distance55 Kilometer
Solan To Kuthar Fort Distance34 Kilometer
Dharampur To Kuthar For Distance19 Kilometer
Chandigarh To Kuthar Fort Distance67 Kilometer
Sabathu To Kuthar Fort Distance12 Kilometer

जटोली शिव मंदिर – Jatoli Temple Solan

बैसे तो Himachal में अनेकों Shiv Mandir  है l जिनका अपना-अपना महत्व है l परन्तु Solan में Jatoli Shiv Mandir एशिया का सबसे ऊँचा शिव मंदिर है l इस मंदिर के निर्माण को 39 साल लगे l दक्षिण द्रविड़ शैली से इस मंदिर को बनाया गया है l पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान शिव एक रात के लिए रुके थे l Sidh Baba Swami Krishnanand Parmhans  जी ने यहां पर तपस्या की थी l इस मंदिर के कोने में स्वामी जी की गुफा भी है जहाँ पर उन्होंने तपस्या की थी l

best solan tourist place Jatoli Shiv Temple Solan

इस मंदिर का गुम्बद 111 फ़ीट ऊँचा है l जो इस मंदिर को एशिया का सबसे ऊँचा मंदिर होने का गौरव प्रदान करता है l मान्यता के अनुसार एक समय में इस गाँव में पानी की काफी परेशानी थी l जिसे देखते हुए Swami Krishnanand Parmhans  ने शिव भगवान की घोर तपस्या की और जमीन पर अपने त्रिशूल से प्रहार कर के पानी निकला था l तब से लेकर अब तक Jatoli में पानी की कोई समस्या नहीं है l लोग इस पानी को चमत्कारी बताते हैं l

जटोली शिव मंदिर कैसे पहुँचें – How To Reach Jatoli Shiv Temple 

Jatoli Rajgarh Road पर स्थित है Jatoli आप बस, टैक्सी, कार के माध्यम से पहुँच सकते हैं l सड़क से 100 सीढ़ियां चढ़ कर आप भगवान शिव के दर्शन कर सकते हैं l

बॉन मठ – Bon Monastery

Bon समुदाय Budhish समुदाय से भी पुराना है l हालाँकि दोनों के सिद्धांत एक सामान हैं l Solan  की Bon Monastery दुनिआ का दूसरा सबसे पुराना मठ है l बॉन समुदाय के लिए यह Monastery अंत्यंत पूजनीय है l इस मठ की स्थापना 1969 में एबोप्ट लुंगटोग तेनपाई नइमा ने की थी । यह मठ पहाड़ी की छोटी पर स्थित है इस मठ के चरों और बर्फ से ढके पहाड़ो को निहार सकते हैं l इस मठ के बहार Manicured Gardens हैं इस मठ में Tonpa Shenrab Miwoche की एक प्रभावशाली मूर्ति है।

Bon Monastary Solan

How To Reach Bon Monastery

Solan से 15 किलोमीटर की दुरी पर स्थित Bon Monastery के जाने के लिए आपको Solan से Rajgarh Road लेना होगा l

दगशाई जेल संग्रहालय सोलन – Dagshai Jail Museum Solan

पूर्व ब्रिटिश Dagshai Jail दगशाई जेल जो की अब Dagshai Jail Museum  के नाम से जानी जाती है l पर्यटक अक्सर यहाँ पर घूमने जाते हैं दगशाई    हिमाचल प्रदेश के सोलन    की सबसे पुरानी छाबनी कस्बों में से एक है l पहले इस जगह का उपयोग भंडारण यार्ड के रूप में किया जाता था। परन्तु सेना की मदद से इस जगह को साफ करके इसकी ने सरंचना सामने आई है l अब इस जगह ने संग्राहलय का रूप ले लिया है अंडमान की सेलुलर जेल के अलावा यह भारत का एकमात्र संग्राहलय है l

Dagshai Jail Meseum

इस जेल का निर्माण में शुरू हुआ था इस जेल में 54 से अधिकतम सेल्युलर सेल शामिल हैं l इस जेल में दो दरवाजे हैं जो तीन फ़ीट हैं l यह सेल अत्यधिक ठन्डे हैं जैसे ब्रिटिश काल में हुआ करते थे l इन सेलों में उन कैदियों को रखा जाता था l जिन्हे कठोर सजा सुनाई जाती थी इस जेल में प्रकाश का कोई मार्ग नहीं है l इस जेल में एक Vip सेल था l जिसमें एक चिमनी और बाशरूम की सुविधा थी l इस जेल में भागने के लिए कोई भी मार्ग नहीं है l

 

Mahatma Gandhi  भी इस जेल में एक साल रह चुके हैं 1857 के विद्रोह के दौरान विद्रोह करने वाले नासिरी रेजिमेंट के गोरखा विद्रोहियों को भी इसी जेल में लाया गया था l Dagshai Jail Cells  एक ऐतिहासिक स्थान है l जिसे आज के समय में हम लोग भूल गए है। हिमाचल पर्यटन विभाग और ब्रिगेड कमांडर की मदद से यहां आज संग्रहालय स्थापित किया गया है । इस संग्रहालय में 160 साल पुराने इतिहास का प्रदर्शन देखने को मिलता है l

दग्शाई जेल संग्रहालय कैसे पहुँचें – How To Reach Dagshai Jail Museum

यह Dagshai Museum  Solan से 18 किलोमीटर की दूरी पर है l Chandigarh से यह संग्राहलय 62 किलोमीटर की दूरी पर नेशनल हाईवे पर है l

कृष्ण भवन मंदिर – Krishna Bhavan Mandir

Krishna Bhavna Mandir

यह मंदिर कृष्ण भगवान को पसंद है l यह मंदिर Krishan Bhagwan  को पसंद है l यह मंदिर Solan City के मध्य में स्थित है l यह मंदिर हिन्दुओं का अत्यधिक पूजनीय मंदिर है l इस मंदिर का निर्माण 1926 में हुआ था। मंदिर की वास्तुकला भारतीय संस्कृति और यूरोपीय शैली का एक अनूठा मिश्रण है। यह मंदिर काफी हद तक चर्च की तरह दीखता है l यह पौराणिक मंदिर वास्तु शास्त्र के आधार पर बनाया गया है l विभिन्न शाशकों और स्थानीय कलाकारों ने इस मंदिर में अदभूत कला का प्रदशर्न किआ है l

नालागढ़ पैलेस- Nalagarh Palace

Nalagarh को Himachal Pradesh का Gateway भी कहा जाता है l क्यूंकि Nalagarh कभी Hindur Raja की राजधानी थी l Surender Singh Nalagarh के अंतिम राजा थे l Nalagarh Palace इसकी वास्तुकला के लिए जाना जाता है l इस Palace में भारतीय और मुग़ल शैली का मिश्रण है l वर्तमान में इस पैलेस को Luxury Heritage Hotel में तब्दील कर दिया गया है l

Ramshehar Nalagarh Fort

Nalagarh Fort Himachal Pradesh में स्थित सबसे प्रसिद्ध विरासत होटलों में से एक है। अरावली पहाड़ियों के किनारे पर स्थित है l कहा जाता है की यह किला Rajasthan के Jaipur शहर को देखता है । Nalagarh  किले के बारे में कहा जाता है की यह किला नाहर सिंह की भोमिया की आत्मा से प्रभावित था l जब यह महल बन रहा था l तो महल बनने ने इस प्रेतात्मा ने बढ़ा डाली थी l उस भटकती आत्मा की शांति के लिए महल के अंदर मंदिर बनाया गया था l इस किले के अंदर कई आकर्षक सरंचनाएं देखने को मिलती है l यह किला 20 एकड़ भूमि पर फैला हुआ है l जिसमें बन और बाग़ शामिल हैं l

नालागढ़ किले तक कैसे पहुँचे – How To Reach Nalagarh Fort 

Chandigarh से Nalagarh 47 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है l Chandigarh से Baddi मार्ग होते हुए Nalagarh आप पहुँच सकते हैं l

कसौली हिल स्टेशन – Kasauli Hill Station

Chandigarh Shimla National Highway  के रास्ते पर स्थित एक खूबसूरत Hill Station जहाँ पर Indian Army की छाबनी भी है l देवदार के सुंदर जंगलों के बीच स्थित Hill Station Kasauli बेहद खूबसूरत है l ब्रिटिश शासन द्वारा निर्मित यह हिल स्टेशन भव्य विक्टोरियन इमारतों के लिए जाना जाता है l इस शहर का निर्मल वातावरण हर किसी को अपनी तरफ आकर्षित करता है। शहरों की भीड़ भाड़ वाले इलाके से दूर लोग यहाँ छुटियाँ मानाने आते हैं l

Kasauli Hill Station

Kasauli  के जंगलों में कई बनी जीवों की लुप्त प्रजातियां भी पाई जाती हैं l अगर आप घूमने के लिए शांति वाली जगह तलाश कर रहे हैं तो आप कसौली जरूर जाईये l यह प्राकृतिक जगह आपके मन शांति प्रदान और आदर्श वातावरण प्रदान करेगी l Kasauli Hill Station में घूमने के लिए कई पर्यटक स्थल हैं l जिनके बारे इस पोस्ट में जिक्र करना पर्याप्त नहीं होगा  l अगली पोस्ट में हम आपको Top Kasauli Tourist Places  के बारे में जानकारी देंगे l

कसौली तक कैसे पहुंचे- How To Reach Kasauli

Kasauli आप बस, टैक्सी, बाइक किसी भी माध्यम से जा सकते हैं l अगर आप Chandigarh से Kasauli जा रहे हैं या फिर Solan से Kasauli जा रहे हैं l Dharampur से Kasauli के लिए रास्ता जाता है l Dharampur से Kasauli 10 किलोमीटर है l

Chandigarh To Kasauli Distance57 Kilometer
Solan To Kasauli Distance25 Kilometer

बरोग सुरंग- Barog Tunnel

Barog गाँव हिमाचल प्रदेश Solan जिले का एक छोटा सा गाँव है l यह गाँव 20 वीं सदी में एक समझौते के बाद बना l जब Kalka Shimla Railway Line बिछ रही थी l Colonel  Barog ने पहाड़ में से एक बड़ी Tunnel बनाने की योजना बनाई l जब दोनों सिरों से खुदाई शुरू करवाई गई तो Colonel  Barog की गणना गलत हो गई और दोनों सिरे आपस में नहीं मिल पाए l

पैसे की बर्बादी होते देख ब्रिटिश सरकार ने Barog पर जुर्माना लगाया l Colonel Barog ने काफी शर्मिंदगी महसूस की और कुछ दिनों बाद आत्महत्या कर ली l Colonel  Barog को सुरंग के पास ही दफनाया गया l बाद में सुरंग का काम  H.S. Herington को सौंप दिया गया l परन्तु उन्हें भी काफी निराशा मिली l बाद में Chail के एक Indian Saint Bhalku के मार्ग दर्शन से इस सुरंग का काम पूरा हो पाया l Tunnel का काम सम्पत होने के बाद इस सुरंग का नाम  Barog के नाम पर रखा गया l

Barog Tunnel

1900 से 1903 के बीच में इस सुरंग का काम चलता रहा l इस सुरंग को बनाने में उस समय 8 लाख 40000 रूपये खर्च हुए थे l इस सुरंग को पार करने के लिए Train को 2.5 Minute का समय लगता है l

कैसे पहुंचें बरोग – How To Reach Barog

अगर आप Train से Kalka to Shimla या Barog जा रहे हैं तो आप इस Tunnel को और Barog रेलवे स्टेशन को देख सकते हैं l Chandigarh से Barog 58 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है l

टिम्बर ट्रेल परवाणु – Timber Trail Parwanoo

Haryana Border के साथ लगता Parwanoo City जो की हिमाचल प्रदेश का पहला शहर है l यह शहर Solan जिले में पड़ता है l यह शहर हिमाचल का Business Hub है l इस शहर में बड़े बड़े Wholesaler हैं जो Parwanoo से Goods पुरे हिमाचल में सप्लाई करते हैं l अगर आप Chandigarh से Shimla जा रहे हैं तो इसी शहर से आपको पहाड़ों की ख़ूबसूरती देखने को मिलेगी l

Timber Trail Parwanoo

इस शहर का मुख्य पर्यटक आकर्षण Timber Trail है l जो एक पहाड़ी से दूसरी पहाड़ी की सैर रस्सियों से बंधी Trolly के माध्यम से करवाती है l रस्सियों से बंधी यह Timber Trail दूसरे छोर पर पहुँच जाती है l आप उस Trolly में बैठकर पहाड़ों की निहारने का लुत्फ़ ले सकते हैं l दूसरी पहाड़ी पर एक सूंदर Restaurent हैं उस ऊंचाई वाले Restaurent पर बैठ का आप खाना खाने का आनंद ले सकते हैं l

टिंबर ट्रेल तक कैसे पहुंचें – How To Reach Timber Trail

Chandigarh से Timber Trail Parwanoo  की दूरी 30 किलोमीटर है l  Shimla Chandigarh National Highway पर यह शहर पड़ता है l

Timber Trail Ticket Price For Adult Rs. 1250/-
Timber Trail Ticket Price for Children Rs. 1000/-

सोलन पर्यटक स्थलों की यात्रा का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Solan Tourist Places

जैसा की इस पोस्ट में हमने Solan में घूमने के लिए स्थान बताएं हैं l प्रतेक स्थान की अपनी जलवायु और ख़ूबसूरती है l आप किसी भी मौसम में इन स्थानों पर घूमने जा सकते हैं l गर्मियों का मौसम इन जगहों के लिए काफी उचित माना गया है l अगर आप बर्फ़बारी देखने के शौक़ीन हैं तो आप सर्दियों के मौसम में Kasauli जा सकते हैं l

Solan Map

उम्मीद करता हूँ की हमारी यह पोस्ट आपको जरूर पसंद आई होगी l आपको  Solan Tourist Places पोस्ट कैसी लगी l कृपया कमेंट बॉक्स में हमें जरूर बताएं l

Comment here